विवादों में घिरी फिल्म ‘पद्मावती’ अब 12 जनवरी को होगी रिलीज

कहानी में राजपूत रानी पद्मावती को लेकर तथ्यों से छेड़छाड़ को लेकर विवादों में घिरी फिल्म अपनी पूर्वनिर्धारित तारीख 1 दिसंबर को रिलीज नहीं होगी।

पद्मावती को लेकर मचे बवाल के बीच फिल्म की निर्माता कंपनी वायकॉम 18 ने रिलीज टाल दी है। सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद नई तारीख तय होगी। पहले यह फिल्म एक दिसंबर को रिलीज होने वाली थी। मगर चौतरफा विरोध के बाद फिल्म के निर्माताओं ने इसे टालने का फैसला किया है। अब इसके गुजरात चुनाव के बाद सिनेमाघरों में आने के आसार हैं।

इस अहम घोषणा ने एक तरह से हर पक्ष को राहत पहुंचाई है। सेंसर बोर्ड से लेकर केंद्र सरकार और फिल्म के विरोध में उतरे सभी गुट इसे अपनी जीत के तौर पर देख सकते हैं। दूसरी तरफ सेंसर बोर्ड की तरफ से लगभग साफ हो गया था कि बोर्ड इस फिल्म को पास करने के लिए कोई मेहरबानी देने के मूड में नहीं है।

प्रवक्ता ने कहा कि वायाकॉम18 मोशन पिक्चर्स देश के कानून और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) जैसी वैधानिक संस्थाओं का पूरा सम्मान करती है. उन्होंने कहा कि एक जिम्मेदार और कानून का पालन करने वाले कॉरपोरेट नागरिक के तौर पर वह स्थापित प्रक्रियाओं एवं परंपराओं का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध है.

बयान के मुताबिक, हमें यकीन है कि हम फिल्म रिलीज करने के लिए जरुरी मंजूरी जल्द ही हासिल कर लेंगे. सीबीएफसी यानी सेंसर बोर्ड से प्रमाण-पत्र हासिल करने से पहले ही विभिन्न मीडिया चैनलों को यह फिल्म दिखाए जाने से बिफरे बोर्ड के प्रमुख प्रसून जोशी ‘पद्मावती’ के निर्माताओं पर जमकर बरसे थे.

सीबीएफसी ने फिल्म को वापस निर्माता के पास भेज दिया था, क्योंकि प्रमाणन का आवेदन अधूरा था. बयान में कहा गया, ……हम एक जिम्मेदार, कानून का पालन करने वाले कॉरपोरेट नागरिक हैं और देश के कानून एवं केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड सहित हमारी सभी संगठनों एवं वैधानिक संस्थाओं के प्रति हमारा पूरा सम्मान है.

स्टूडियो ने कहा कि वह जल्द ही फिल्म की रिलीज की नई तारीख जारी करेगा. बयान के मुताबिक, हम उचित समय पर फिल्म की रिलीज की नई तारीख घोषित करेंगे. हम पंसद आने वाली ऐसी कहानियां बयान करने के प्रति प्रतिबद्ध हैं जो पूरी दुनिया में हमारे दर्शकों को भाए, जैसे हमने ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’, ‘क्वीन’, ‘भाग मिल्खा भाग’ और कई अन्य परियोजनाएं के साथ किया.

वहीं फिल्म रिलीज टलने के साथ ही श्री राजपूत करणी सेना ने भी 1 दिसंबर के भारत बंद का आह्वान स्थगित कर दिया है. करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा कि फिल्म को लेकर हमारा विरोध बना हुआ है, लेकिन फिल्म की रिलीज टाली गई है, इसलिए हमने भी बंद स्थगित कर दिया है. हालांकि हमारी मांग फिल्म पर पूर्ण प्रतिबंध की है और यह अपनी जगह बनी हुई है.

बता दें कि इस साल की शुरुआत में भंसाली की ओर से फिल्म की शूटिंग शुरू करने के बाद से ही पद्मावती विवादों में है. जयपुर में राजपूत करणी सेना नाम के एक संगठन के सदस्यों ने भंसाली से बदसलूकी भी की थी. जयपुर और कोल्हापुर में फिल्म के सेटों को तोड दिया गया था. इस फिल्म का पहला पोस्टर बीते अक्तूबर में रिलीज किया गया था, जिसके बाद विभिन्न राजपूत संगठनों एवं अन्य ने दावा किया था कि निर्देशक ने ऐतिहासिक तथ्यों को तोड-मरोडकर पेश किया है.

भंसाली और मुख्य भूमिका निभा रही दीपिका पादुकोण को धमकियां मिली हैं. मुंबई पुलिस ने उनकी सुरक्षा कडी कर दी है. इस बीच, फिल्मी हस्तियां भंसाली और उनकी टीम के समर्थन में आ गई हैं. कई अग्रणी कलाकारों ने इसे रचनात्मक आजादी पर हमला करार दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *