सांस्कृतिक मूल्यों के साथ सम्यक विकास की अवधारणा को साकार करने मे महिलाओं की सहभागिता आवश्यक : डाँ नीतू नवनीत

123

हाजीपुर/पटना। अंतरर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जगजननी सोशल वेलफेयर सोसाइटी, मानव मंगलम संस्थान और रुद्रा डेवलपमेंट फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में ‘जगजननी तू है तो हैं हम’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न वक्तओं ने नारी शक्ति की महिमा का बखान करते हुए कहा कि यत्र नार्यस्तु पूज्यंते, रमंते तत्र देवता भारत की संस्कृति रही है । समाज में महिलाओं को पूरा सम्मान और आगे बढ़ने का पर्याप्त अवसर भी मिलना चाहिए । भाजपा की वरिष्ठ नेता किरण घई ने कहा कि महिलाएं घर के साथ-साथ बाहर की दुनिया से संभाल रही है फिर भी समाज का एक बड़ा वर्ग महिलाओं को हिकारत की दृष्टि से देखता है । भ्रूण हत्या बाल विवाह और दहेज प्रथा समाज की सच्चाई है जिससे निजात पाए बिना सुंदर संसार की रचना नहीं हो सकती । दीघा विधायक संजीव चौरसिया ने महिला दिवस के अवसर पर उपस्थित महिलाओं को शुभकामना देते हुए कहा कि हर क्षेत्र में महिलाएं आगे बढ़ रही है और काफी बढ़िया कर रही है । बिहार के प्रसिद्ध लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने कहा कि सामाजिक सद्भाव और सांस्कृतिक मूल्यों के साथ सम्यक विकास की अवधारणा को साकार करने में महिलाओं की सहभागिता आवश्यक है । महिलाओं ने सदियों से घर को संभाला है, लेकिन नई सदी में विकास के दबाव में समाज और परिवार बिखर रहे हैं । जिस तरह से मोतियों को पिरोकर माला बनाने में महिलाएं माहिर होती हैं, उसी तरह परिवार और समाज के सभी लोगों को एक सूत्र में बांध कर समाज और राष्ट्र की खुशहाली को सुनिश्चित करने में महिलाओं की भागीदारी आवश्यक दिखती है । कार्यक्रम के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत, कथाकार ममता मेहरोत्रा, मौसम शर्मा, रंजना मिश्रा, संगीता,शालिनी सिंहा, अंजना पांडे, स्मिता गुप्ता देवयानी दुबे, अनीता पांडे, प्रतिमा गुप्ता, अनीता सहाय, सुजाता सोनी, प्रर्मिला देवी, वीणा सिंह और सुधा सिन्हा को जगजननी सम्मान प्रदान किया गया । कार्यक्रम के सफल आयोजन में विनय पाठक, अभिषेक कुमार, उज्जवल जनप्रिय,नीलू प्रकाश श्रीवास्तव की प्रमुख भूमिका रही ।( उमेश कुमार विप्लवी की रिपोर्टें )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *