एनएसजी हर तरह के हमले का जवाब देने में सक्षम : राजनाथ सिंह

pib@#

गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) एक विश्व स्तरीय ‘शून्य गलती करने वाला’ बल है और हर तरह के हमले का जवाब कम से कम समय में देने में सक्षम है। उन्होंने आज हैदराबाद में इब्राहीमपत्तनम स्थित एनएसजी के 28 स्पेशल कंपोजिट ग्रुप (एससीजी) परिसर का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एनएसजी में सेना और अर्द्ध सैनिक बलों का समावेश होता है तथा इनके ऊपर बहुआयामी जिम्मेदारियां होती हैं। यह बल आतंकी हमलों और विमान अपरहण के प्रयासों का मुकाबला करते हैं तथा सुरक्षा प्रदान करते हैं। उन्होंने कहा कि एनएसजी हब में प्रशिक्षण की शानदार सुविधाएं उपलब्ध हैं, जो विश्व मानकों के अनुरूप हैं। एनएसजी राज्य पुलिस बलों के साथ संयुक्त अभ्यास करता रहता है और उनकी कुशलता तथा क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। उन्होंने कहा कि 26/11 मुम्बई हमलों के बाद जवाबी कार्रवाई में लगने वाले समय को कम करने के इरादे से सरकार ने एनएसजी हब मुम्बई (एनएसजी 26), चेन्नई (एनएसजी 27), हैदराबाद (एनएसजी 28), कोलकाता (एनएसजी 29) और गांधीनगर (एनएसजी 30) में स्थापित किए हैं।

मंत्री महोदय ने कहा कि आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए सिरदर्द है और वह अब सोशल मीडिया के जरिये नई चुनौतियां दे रहा है। इन चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए सुरक्षा बलों को अपनी तकनीकी क्षमता मजबूत करनी चाहिए। श्री राजनाथ सिंह ने एनएसजी टीम के उन 16 सदस्यों को बधाई दी, जो 2019 में एवरेस्ट पर्वत पर चढ़ाई करेंगे। उन्होंने कहा कि एनएसजी बेहतरीन बलों में सबसे बेहतर है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि एनएसजी कुशल तथा प्रभावशाली तरीके से हर चुनौतियों का मुकाबला करेगा।

इसके पूर्व उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए एनएसजी के महानिदेशक श्री सुदीप लखटकिया ने कहा कि हैदराबाद स्थित एनएसजी हब के दायरे में छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आन्ध्र प्रदेश और उड़ीसा राज्य हैं। उन्होंने कहा कि एनएसजी ने अपने क्षमता निर्माण प्रयासों के तहत अमेरीका और फ्रांस के साथ संयुक्त अभ्यास किए हैं। एनएसजी ने 115 आतंकी हमलों का मुकाबला किया है और उसे तीन अशोक चक्र, तीन कीर्ति चक्र, तीन शौर्य चक्र और 109 पुलिस पदक प्राप्त हुए हैं, जो उसकी कुशलता का सबुत हैं। हैदराबाद के इब्राहीमपत्तनम स्थित एनएसजी हब एक पर्यावरण अनुकूल हरित परिसर है, जो 200 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है।

इस अवसर पर आन्ध्र प्रदेश और तेलंगाना के राज्यपाल श्री ईएसएल नरसिम्हन, तेलंगाना के गृह मंत्री श्री नयिनी नरसिम्हा रेड्डी, गृह मंत्रालय, तेलंगाना सरकार तथा कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

हमलों तथा अन्य परिस्थितियों का मुकाबला करने में एनएसजी कर्मियों की क्षमता प्रदर्शित करने के लिए एक आयोजन भी किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *