नई दिल्ली में राज्यों के ऊर्जा मंत्रियों का सम्मेलन 7 दिसंबर को

rajkumar@

राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रियों का 7 दिसंबर, 2017 को नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय राज्य (स्वतंत्र प्रभार) ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय मंत्री श्री राज कुमार सिंह करेंगे। इस सम्मेलन का उद्देश्य ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्रों से संबंधित चल रही विभिन्न योजनाओं/कार्यक्रमों और विषयों पर कार्यान्यवन  की समीक्षा करना है। इसके साथ ही सम्मेलन में ऊर्जा तथा नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र से जुड़े विषयों पर विचार विमर्श भी किया जाएगा।

सम्मेलन में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मंत्री, सचिव तथा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के वरिष्ठ अधिकारी महत्वपूर्ण योजनाओं पर नवीनतम प्रगति की समीक्षा और विषयों पर विचार विमर्श करेंगे।

सम्मेलन के दौरान विचार विमर्श के मुद्दे

ऊर्जा

वितरण

  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (डीडीयूजीजेवाई): फीडर अलग करने और मजबूत करने वाली परियोजनाओं को पूरा करना
  • शहरी क्षेत्रों में आईपीडीएस कार्य का शीघ्र निपटान और सकल तकनीकी और व्यावसायिक नुकसान को 10 प्रतिशत से कम करना
  • सौभाग्या (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना): दिसंबर 2018 तक शत प्रतिशत घरेलू बिजलीकरण को प्राप्त करना
  • उज्जवल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना (यूडीएवाई)

सभी के लिए 24x7 ऊर्जा की कार्य योजनाः

ए)    डिस्कॉम की व्यावहारिकता – पिछले चार वर्षों की आमदनी और व्यय

      उपाय

      (i) फीडर और ट्रांसफॉर्मर मीटर

      (ii) पूर्व भुगतान/स्मार्ट मीटर

      (iii) डिजिटल भुगतान

      (iv) चोरी विरोधी अभियान

      (v) प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी)

      (vi) दर नीति की सीमाओं में क्रास सब्सिडी शुल्क

      (vii) दिवस दर का समय

बी)    आपूर्ति

      (i) उत्पादन

      (ii) पीपीए के हस्ताक्षर और इसका सम्मान

सी)   प्रेषण

      (i) मजबूती

      (ii) आरओडब्ल्यू विषय

डी)    वितरण

      (i) वाहक और सामग्री को अलग करना

      (ii) मजबूती

ई)    उपभोक्ताओं पर ध्यान

      (i) 24×7 आपूर्ति सुनिश्चित करने का दायित्व

जल विद्युत

  • जल विद्युत परियोजनाओं की व्यावहारिकता – बजट विषय
  • आधार भार कार्य प्रणाली से शिखर कार्य प्रणाली का स्थानांतरण

ऊर्जा संरक्षण

  • ऊर्जा संरक्षण निर्माण कोड की प्रगति की समीक्षा
  • ऊर्जा प्रभावी उपकरणों द्वारा मांग प्रबंधन
  • ई-मोबिलिटी को प्रोत्साहन

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा

नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत

  • नवीकरणीय क्रय दायित्व (आरपीओ)
  • सौर कार्यक्रम के कार्यान्वयन की समीक्षा
  • पवन ऊर्जा कार्यक्रम के कार्यान्वयन की समीक्षा
  • छत के ऊपर सौर कार्यक्रम कार्यान्वयन की समीक्षा
  • सौर पंप कार्यक्रम का कार्यान्वयन
  • कुसुम कार्यक्रम
  • पुनः निवेश-2017
  • लघु जलीय कार्यक्रमों की समीक्षा
  • जैव ईंधन कार्यक्रम की समीक्षा
  • वामपंथ उग्रवाद से प्रभावित जिले

      इस सम्मेलन का समापन सत्र राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की टिप्पणी और सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों द्वारा सम्मेलन प्रस्ताव स्वीकार करने से होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *