मुस्लिम महिलाएं मोदी सरकार के साथ

teen-talaq

बरेली – 3 तलाक़ के खिलाफ शीतकालीन सत्र में कानून लाने जा रही मोदी सरकार का तलाक़ पीड़िताओं ने स्वागत किया है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नक़वी ने आज तलाक़ पीड़ित सैकड़ो महिलाओं के साथ जुलूस निकाला। इन सभी महिलाओं के हाथ मे पीएम मोदी की सपोर्ट में बैनर, होर्डिंग थे और उस पर वोट फ़ॉर मोदी, 3 तलाक़ पर हम मोदी के साथ है जैसे स्लोगन लिखे हुए थे। ये जुलूस चौकी चौराहे से लेकर गांधी उधान पर खत्म हुआ। इस दौरान फरहत नक़वी ने कहा कि मोदी सरकार 3 तलाक़ के खिलाफ कानून लाने जा रही है जिसका सभी महिलाओं ने स्वागत किया है। उनका कहना है कि ये पीएम मोदी ने ऐतिहासिक काम किया है।

बता दें कि सुप्रीमकोर्ट के द्वारा तीन तलाक को बैन करने के बाद भी तीन तलाक के मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में सरकार ने इस कुप्रथा के मुक्त कराने के लिए कानून लाने जा रही है. सरकार इस बिल के जरिए तीन तलाक देने वाले को सजा का प्रवाधान रखना चाहती है. ताकि तीन तलाक पर पूरी तरह से रोक लग सके.तलाक-ए-बिद्दत को रोकने के लिए अभी कोई सजा का प्रावधान नहीं है. हालही में तीन तलाक की घटनाएं सामने आई हैं. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर ने अपनी पत्नी को व्हाट्सएप और लघु संदेश सेवा के माध्यम से तलाक दे दिया और पत्नी ने पुलिस से संपर्क किया. तालाक-ए-बिद्दाप के पीड़ितों को उनकी शिकायत के निवारण के लिए पुलिस पास कोई विकल्प नहीं है. यही वजह है कि पुलिस असहाय हैं क्योंकि कानून में दंडात्मक प्रावधानों के अभाव में पति के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो पाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *