चुनाव की तैयारियों में जुटा प्रशासन,डीएम की अध्यक्षता में जोनल-सेक्टर मजिस्ट्रेटों का प्रशिक्षण

chunawi taiyari
बरेली।  नगर निकाय सामान्य निर्वाचन को सकुशल संपन्न कराने के लिए कमर कस चुका जिला और पुलिस प्रशासन तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। साथ ही चुनाव के बाबत सभी को बताया गया। चुनाव की तैयारियों में जुटा प्रशासन ,बरेली। जिला मजिस्ट्रेट आर विक्रम सिह की अध्यक्षता में संजय कम्युनिटी हाल में निकाय चुनाव के जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेटों का प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ।फोटो निकाय चुनाव की तैयारियों पर चर्चा करते अधिकारीउनकी सक्रियता रहने से मतदान सकुशल पूर्ण हो जाता है। सेक्टर मजिस्ट्रेटों की दोहरी भूमिका होती है जिसमें चुनाव की प्रशासनिक व्यवस्थाओं का पर्यवेक्षण करना तथा शांति पूर्ण माहौल बनाये रखने में सक्रिय पर्यवेक्षण करना हं। पोलिग पार्टियों की रवानगी से लेकर ईवीएम व मतपेटियों के जमा होने तक कार्य का पर्यवेक्षण तथा पोलिग पार्टी व आरओ, जिला निर्वाचन अधिकारी के बीच कम्युनिकेशन का माध्यम होते हैं। मतदान के लिये जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट ”प्राबलम सोल्वर” के रुप में कार्य करते हैं। पीठासीन अधिकारी किसी समस्या और परेशानी को सबसे पहले सेक्टर मजिस्ट्रेट को बताता है मजिस्ट्रेट तत्काल उसे निदान कराता है।
जनपद में 32 जोनल व 8० सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाये गये हैं। ये अधिकांश अधिकारी पूर्व में विभिन्न चुनावों में मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य कर चुके हैं। फिर भी प्रशिक्षण के दौरान उन्हे कुछ चेक पाइंट व टिप्स बताये गये। मतदान दिवस के पूर्व दिन को पोलिग पार्टी की रवानगी, मतदान बूथों पर पहुंचना का स्वयं मौके पर जाकर सत्यापन करें। पूर्व रात्रि को बूथ पर जाकर मतदान कार्मिक का मानदेय भुगतान करें इससे पार्टी का सत्यापन भी हो जायेगा। मतदान दिवस पर प्रात: ०7:3० बजे मतदान प्रारम्भ करा दें इससे पूर्व ईवीएम में माकपोल व मतपेटी सील आदि कार्यवाही करवा लें। पोलिग एजेंट का वेरीफिकेशन ठीक से हो जाये। दिन पर सचल रहे तथा बूथ पर जाकर प्रत्येक दो घंटे में मतदान का प्रतिशत रिपोर्ट करें। मतदान केन्द्र पर भीड़ नही इकट्ठी होने दें। बूथ के अन्दर गैर अधिकृत व्यक्ति प्रवेश नहीं करें। मतदान केन्द्र के 1०० मीटर की परिधि में किसी प्रत्याशी का कोई प्रचार सामग्री नही लगी हो। अति संवेदनशील प्लस श्रेणी के मतदान केन्द्रों की वेवकास्टिंग होगी तथा अतिसंवेदनशील की वीडियोंग्राफी होगी। मजिस्ट्रेटों को चुनाव स्टेशनी, ईवीएम की कार्य पद्धति, पोलिग कार्मिकों के कार्य विभाजन आदि की जानकारी दी गई ताकि किसी भी जरुरत पर मतदान कार्मिकों की समस्या का समाधान करा सके।
अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) जगत पाल सिह, जिला युवा कल्याण अधिकारी विवेक श्रीवास्तव, मास्टर ट्रेनर डा० नमिता त्रिपाठी, श्रीमती आकांक्षा सक्सेना, मो. सलमान जमीर, सूर्य प्रकाश व जगदीश पन्त ने विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तार से प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर छूटे हुये पीठासीन व मतदान कार्मिक भी उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *