बरेली में भाजपा जिला अध्यक्ष पर मतदान के दौरान पथराव

barelly@
नवाबगंज में फर्जी मतदान की सूचना पर बूथ पर पहुंचे थे जिला अध्यक्ष रविन्द्ग राठौर, पूर्व चेयरमैन के समर्थकों पर लगाया हमले का आरोप, इससे पहले पुलिस से भी हुई ही थी हमलावरों की तीखी झड़प। शहर में भी कई जगह फर्जी मतदान के लगे आरोप। एक जगह खराब हुई ईवीएम मशीन। कई वीआईपी ने किया मतदान। शहर के बाजारों में पसरा रहा सन्नाटा।
 बरेली में निकाय चुनाव के दौरान कई स्थानों पर हंगामा हुआ। नवाबगंज तहसील में तो भाजपा के जिला अध्यक्ष रविन्द्ग सिंह राठौर पर सीधे पथराव ही कर दिया गया जिससे उनके साथ गए एक कार्यकताã को गंभीर चोटे लगी हैं। इसके अलावा महानगर के कई बूथों पर रुक-रुककर हंगामा होने की खबरें आती रहीं। अलबत्ता मतदान को लेकर शहर के मतदाताओं में काफी क्रेज नजर आया। प्रदेश सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल व केंद्ग सरकार के मंत्री मुख्त्यार अब्बास नकवी के 115 साल के नाना और करीब 9० साल के हो चुके पूर्व सांसद राजवीर सिंह ने भी व्हील चेयर से पहुंचकर मतदान किया। नवाबगंज के स्टैंडर्ड स्कूल के पास बनाए गए बूथ 32, 33 पर भाजपा के जिला अध्यक्ष रविन्द्ग सिंह राठौर पर पथराव कर दिया जिससे उनका एक समर्थक गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल कार्यकताã कोे इलाज के लिए बरेली भेजा गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक श्री राठौर फर्जी मतदान की खबर मिलते ही संबंधित बूथ पर कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान दूसरे पक्ष के कुछ लोगों ने बीजेपी के जिला अध्यक्ष पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए जिससे उनके साथ गए विजय राठौर को तमाम गंभीर चोटे आई हैं। यह भी बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले ही एक प्रत्याशी के पति को सीओ ने पीट दिया था जिसकी वजह से काफी देर हंगामा होता रहा।पार्टी जिला अध्यक्ष पर पथराव की खबर मिलते ही बड़ी संख्या में भाजपा के कार्यकताã मौके पर पहुंच गए और मामले की जानकारी ली। भाजपाईयों का आरोप है कि दूसरे पक्ष के लोगों द्बारा फर्जी तरीके से मतदान किया जा रहा था जिसकी खबर मिलने पर जिला अध्यक्ष रविन्द्ग राठौर पहुंचे थे तभी निर्वतमान चेयरमैन के समर्थकों द्बारा उनके ऊपर पथराव कर दिया गया। भाजपाईयों ने दावा किया है कि हंगामे के दौरान उन्होंने दो लोगों के कब्जे से फर्जी आधार कार्ड भी बरामद कर लिए हैं। इस मामले की जानकारी प्रदेश सरकार को भी देने की बात कही जा रही है।यहां बताते चलें कि बीती सपा सरकार के दौरान निर्वतमान चेयरमैन शहला ताहिर के इशारे पर रविन्द्ग राठौर पर एक ही दिन में तीस से ज्यादा मुकदमें लगाए गए थे। मालूम हो कि शहला ताहिर तत्कालीन कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव की काफी नजदीकी मानी जाती थीं। प्रदेश में जब भाजपा की सरकार बनी तो रविन्द्ग राठौर ने शहला ताहिर के खिलाफ पुख्ता सुबूत पेश करके प्रदेश सरकार के कई मंत्रियों से मुलाकात कर उनकी शिकायतें की थी मगर उनकी जब किसी ने नहीं सुनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *