बरेली के बिथरी ब्लाक में बसपा के प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास

dec1-bithri-block-mein-tak
मौजूदा ब्लाक प्रमुख को केवल एक ही वोट मिला जबकि विरोध में पड़े 72 वोट
भाजपा विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की मेहनत रंग लाई,अविश्वास प्रस्ताव के सफल होने के बाद भाजपाईयों ने मनाया जश्न .
 मेयर की कुर्सी पर काबिज होने के बाद अब बिथरी चैनपुर ब्लाक की सीट पर भी भाजपा का कब्जा हो गया है। यहां बसपा से चुनकर आए पूर्व विधायक वीरेंद्ग सिंह के बड़े भाई देवेंद्ग सिंह के खिलाफ भाजपा विधायक पप्पू भरतौल के प्रयासों से लाया गया अविश्वास भारी मतों से पास हो गया। हैरत की बात यह है कि देवेंद्ग सिंह को केवल एक ही वोट मिला जबकि दो वोट रद हो गए।
बरेली का बिथरी चैनपुर क्षेत्र राजनीतिक लिहाज से जिले में काफी चर्चित रहा है। बीते दिनों हुए ब्लाक प्रमुखी के चुनाव में बिथरी चैनपुर को छोड़कर सभी सीटों पर सपा भारी मतों से जीती थी। बिथरी में ही केवल एक वोट से सपा पराजित हो गई थी। इस बीच भाजपा की प्रदेश में सरकार बनने के बाद जिला पंचायत के साथ ही बिथरी ब्लाक प्रमुख की सीट पर भाजपा की नजर थी। जिला पंचायत में भाजपा ने अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश की थी मगर उनके प्रयास सफल नहीं हो सके मगर बिथरी चैनपुर में उनकी मेहनत कामयाब हो गई। सोमवार को पीठासीन अधिकारी व अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम अरुण मणि त्रिपाठी ने परिणाम घोषित कर दिया।
श्री त्रिपाठी ने बताया कि अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 71 मत पड़े जबकि अविश्वास प्रस्ताव के विपक्ष में केवल एक ही वोट मिला है यानि देवेंद्ग सिंह ने ही अपना वोट अपने पक्ष में डाला होगा। दो मत निरस्त हो गए। बाद में नोटिस की काफी ब्लाक आफिस की दीवार पर भी चस्पा कर दी गई। उधर भाजपा के बिथरी चैनपुर के विधायक पप्पू भरतौल व नबाबगंज के विधायक केसर सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया। यहां बताते चलें कि बीते दिनों जब अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी भाजपा नेताओं ने की थी तब देवेंद्ग सिंह ने कोर्ट की शरण ले ली थी बाद में कोर्ट ने वोटिंग करवाने को हरी झंडी दे दी थी। माना जा रहा है कि एक दो दिन बाद बिथरी के ब्लाक प्रमुखी की कुर्सी पर भी भाजपा का ही नेता बैठ जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *